Hide Button

सैमी टिपिट सेवकाई निम्‍नलिखित भाषाओं मे आपको यह विषय प्रदान करती है:

English  |  中文  |  فارسی(Farsi)  |  हिन्दी(Hindi)

Português  |  ਪੰਜਾਬੀ(Punjabi)  |  Român

Русский  |  Español  |  தமிழ்(Tamil)  |  اردو(Urdu)

news

अगुवों ने जागृति के लिए पुकारा

बिली ग्रहम टरेनिंग सैंटर The Cove मे पिछले 10 सालो से चल रहे Heart-Cry for Revival के सातंवे संमेलन के लिए पासबान और अगुवे जमा हुंऐ।बेदारी का आत्माH वंहा फैल गया और मसीह अगुवे परमेश्व र के चेहरे को खोजा।संमेलन की शुरुआत से पहले प्रार्थना संमेलन से हुई जिसकी अगुवाई ड़ेव बट्स्स और दानिय्येुल हनडरसैन ने की। ड़ेव Harvest Prayer Ministries के अध्येक्ष और U.S. National Prayer Committee के सभापति है जबकि दानिय्येeल Strategic Renewal के अध्यrक्ष है।

Sherwood Baptist Church के पासबान और फिल्मे Facing the Giants और Fireproof के प्रबन्धdक निर्माता कैट ने पासबानो को सेवकाई की कठिनाईयो का सामना करने को उत्साोहित किया।डेविड़ बराएन्टब जो Proclaim Hope के अध्यउक्ष है ने अगली शाम यीशु की महिमा और सर्वोच्च ता के विष्य ने बताया। सुनने वालो को उन्होषने कहा की मसीह जागरुकता आन्दो्लन सम्भतव था।

मंगलवार सुबह के सत्तर संम्मेशलन के महत्व पुर्ण रहे। International Awakening Ministries के अध्यमक्ष रिर्चड ओवन रोर्बट ने पासबानो को वचन सुनाने की चुनोती दी। उन्होiने ने कहा,सिर्फ वचन के बारे मे प्रचार न करे और ना सिर्फ वचन से प्रचार करे परन्तु परमेश्वहर के वचन का प्रचार करे। उन्होवने मसीह अगुवो से कहा जब आप परमेश्व र के वचन का प्रचार करते है तब आपका वचन आग से भरा और हथोड़े की नाई होता है।

मंगलवार की सुबह ऐलजा मेयर जो जोहानसब्रग( दक्षिण अफ्रीका) के पास बड़े मोरेलिटा र्चच की है ने स्त्रि यों के बिच मे प्रचार किया। ऐलजा दक्षिण अफ्रीका मे स्त्रि यों के बड़े संभाओ का आयोजन करती है जिसे “ परमेश्व्र की और मुड़ना ” कहते है। संभा के बाद बहुत स्त्रिं या जो वहा शामिल थी उत्साहहित हुई और उन्होवने वाह कहा। परमेश्वमर ने उन्केे ह्रदय को छुया। अगले दिन फिर स्त्रिीयों कि संभा हुँई जिसमे नैनसी लैय ड़िमैस ने वक्तावओ कि पत्निेयो का साक्षात्का र लिया जिसमे टैक्सद टिपिट भी थी।

सैमि टिपिट ने अन्ति्म शाम को प्रचार किया।अमेरिका मे जो संदेश वंचित है उस पर टिपिट ने प्रचार किया,और अंन्त‍रा सभी प्रचारको ने अगुवो को उत्सांहित किया की वो दौड़ जो उनके सामने रखी है उसे धीरजता से दौड़े।उन्होरने पासबानो को पवित्रता का जीवन वतित करने और दुख को गले लगाने को कहा। उन्होाने कहा ,जो दुख हम सहते है उनसे हम और मसीह स्माकन बनते है।जब हम दुख कि खाटी से गुजरते है हम और मसीह समान बनते है।हमे दुखो को गले लगाना सिखना है। शामिल लोगो ने परमेश्वऔर ने जो उनके जीवनो मे किया गवाही के रुप मे बांटा। कुछ को आप निम्तन पड़ सकते हो।

शामिल लोगो ने परमेश्वसर ने जो उनके जीवनो मे किया गवाही के रुप मे बांटा। कुछ को आप निम्तर पड़ सकते हो।

  1. अनुशासन के क्षेत्र मे परमेश्वकर ने मुझ से बात की। परमेश्व र के साथ व्यँकतित्वश समय के लिय मुझे अपने आप को अनुशाषित करना है और बाईबल को प्रचार खोजने के लिए नही परन्तुझ यीशु से मिलने के लिए पड़नी है
  2. उन्होिने मुझे निशचय किया है कि मै र्चच को प्रार्थना करना सिकाऊ,जो कि परमेश्वकर के वचन कि प्रार्थना।उसका वचन जीवित और सार्मथी है।/em>
  3. मै कौन हुँ जिसे परमेश्वचर ने आशिष दी कि मै उसके सिँहासन कक्ष मे प्रवेश करु और मुझे उसने अपने से भर दिया।
  4. उसने मुझे निश्चकय किया की सेवकाई मे मै अकेला नही हुँ,कि मै अपनी आंखे उस पर लगाऐ रखु।संसार कि उन वस्तु ओ को मै ना देखु जो बहुत जल्दन मेरा ध्यासन हटाना और नाश करना चाहती है।
  5. मुझे संय्मु मे बेदारी चाहिऐ। मेरा पाठ भुख और प्या्स पर कई सालो मे पहली बार मैने शांत होना सिखा है।
  6. मैने निश्चुय किया कि मै दौड़ का अंन्त बलवानी से करुगा।कि रोज मसीह से क्षमा मांग कर उद्वारक्रता मे बना रह कर उससे खुराक पाऊगा।मै पवित्र आत्मान से विनती करता हुँ कि मुझमे धीरजता और अनुशासन के फल दे।
  7. कई कारण वंश जिनका र्वणन लम्बाे है मै परमेश्व र से दुर हो गया। पर जब परमेश्वमर के जंनो ने परमेश्व र के वचन बोले मै बेदार हो गया।
  8. परमेश्व र ने मुझे र्चच मे प्रार्थना का माहोल बनाने और अपनी प्रार्थना कि चाल को गहरा करना का बोझ दिया है।
  9. उसने मुझे गहरी निकटता के लिय बुलाया है और उसकी सेवा का मुझ मे नया र्दशन दिया।
  10. परमेश्वझर ने मुझे उसकी ताजगी मे फिर से बुलाया है।उसने मुझे दिखया कि कड़ी मेहनत करने के बाद उस सेवकाई को कोई और आकर ले लेगा और बहुत तेज लेकर दौड़ेगा।
  11. मै अभी पासबान हुँ पर मै एक र्चच से दुसरे मे दौड़ता रहता और इसे त्या गना भी चाहा। क्यो कि मै जानता था ,कि यदि मुझे सोत्र दिए जाए उन्हेइ कैसे इस्ते माल करुगा।मुझे अंगिकार करना चाहिए कई बार मै स्वा र्थि था। मैने दिशा,समझ,आशा,जोश,विश्वाास,शांति और तरीका पाया है।
  12. परमेश्वार ने मुझे खुद को बेदार ,प्रार्थना और प्रार्थना के वचनो पर केन्द्रोरित होना सिखाया। इस हफ्तेर जो सुना उससे मेरी सेवकाई मे फिर से ध्याऔन देने को कायल किया।यह मुझे परमेश्वफर के और निकट लाया है।
  13. मेरे दिल कि इच्छा को कि र्पुणरुप से सेवकाई कि है इस संभा मे निश्चाय हो गया। इसी साल 2011 मे मै मैनोविक्षान मे B.S कि प्राप्ति पा लुगा। मेरी इच्छा है कि उसके प्रति चाहत पैदा करु।
  14. उसने मुझे सिखाया कि मुझे कीतना उसके मुख को खोजना और प्रार्थना करने कि जरुरत है। और मुझे अपने लोगो कि अगुवाई करनी है कि यीशु पर ध्याान दे।
  15. मेरे प्रार्थना के जीवन को कार्य कि जरुरत है,पवित्र आत्मा कि अगुवाई से ,मै यहा से सवाल फिर प्रार्थना और फिर आक्षा मे चलने कि आशा करता हुँ।
  16. हार और निराशा के बावजुद उसने सेवकाई मे मुझे उत्सातहित करने और मेरे साथ वफादार रहने का आशवासन दिलाया।मेरी भविष्यन कि सेवकाई के प्रति उसने मेरी प्रार्थना का उत्तर दिया।