Hide Button

सैमी टिपिट सेवकाई निम्‍नलिखित भाषाओं मे आपको यह विषय प्रदान करती है:

English  |  中文  |  فارسی(Farsi)  |  हिन्दी(Hindi)

Português  |  ਪੰਜਾਬੀ(Punjabi)  |  Român

Русский  |  Español  |  தமிழ்(Tamil)  |  اردو(Urdu)

news

मध्यह पूर्व मे चेले बनाना

सैमी टिपिट और बैरी सं:त कलेर मिले की मध्य पूर्व मे जवानो को प्रशिक्षण दे की वह , दो और देशो मे जवानो तक जाए और सिखाए/ यह सभाएं योजना र्पुव थी क्यो कि इसमे से एक देश मे जवानो मे काभी बेदारी आ रही थी/

टिपिट बीते सालो मे इन देशो मे प्रशिक्षण दे चुके है परन्तुच यह पहली बार था की वह योजना र्पुव जवानो को निशाना बनाऐ/ Barry St. Clair जो की ReachOut Ministries के संस्थाशपक है ने पहली बार STM के साथ मिलकर कर काम किया/ St. Clair ने दुनियाभर मे जवानो को प्रशिक्षण दिया है/

टिपिट और St.कलेर ने पुरे हफ्तेक अगवे और चेलेपन के सिंधान्ते सिखाऐ/ St.कलेर की शिषा काफी ग्रहण की क्योरकि उन्होकने Jesus-Focused Youth Ministry के प्रशिक्षण नियमावली से अगुवो को सिखाया/टिपिट ने चेलेपन के सिंधान्तu को सिखाते हुऐ अगवो से कहा, की मै विश्वाकस करता हूँ कीपरमेश्व र आपके देश मे महान बेदारी भेजना चाहता है और जवानो मे पवित्र आत्माै की नई दाखरस उंटेलना चाहता है/ परन्तु नई दाखरस पाने के लिऐ नई मशकें चाहिए और मै विश्वािस करता हुँ की चेलेपन नई मशकें है/ शिक्षा का ज़बरदस्तश असर यह था की समय कम पड़ा/

बहुतो ने कहा की, हम बोझ और जवानो तक पहुचने की चाहत लेकर आऐ थे परन्तु् पता नही था की कैसे करे/ अब लागु करने के लिए योजना है/

Praying अधिकतर समय जवान कार्यक्रताओ के साथ प्रार्थना ने बिताया/ बहुतो ने अपने जीवन मे बेदारी के लिए परमेश्वकर को खोजा और परमेश्वार से मदद मागी की वह अपनी सेवकाई को प्रार्थना की नींव पर स्थाापित कर सके/ अपने देश और सेवकाई के लिए टिम के साथ समय बीता कर उन्होनने कार्य की योजना बनाई/

कई जवान अगवो ने कहा की इससे पहले अपनी गवाही इतनी सही और स्पेषृ तरीके से सुनाने का प्रशिक्षण कभी नही पाया/ सत्तर मे उन्होेने अभ्यासस किया और गवाही से सुसमाचार सुनाने की योजना बनाई अत्ते अपने जवानो को इसी तरह करने को प्रशिक्षण देगे/ संमेलन के आयोजको ने कहा, अब तक यह सबसे अच्धाक संमेलन है जिसके हम हिस्से दार थे/ अपने देशो मे नई पीड़ी के चेले बनाने के लिए यह जवान कार्यक्रता तैयार है/

चेलेपन और बेदारी-टिम बनना

टिपिट और St.कलेर ने चेलेपन और बेदारी के सत्यt को उन 2 देशो के जवानो को पेश किया/ जहा St.कलेर ने जवानो को ऊपर पंहुचना और फिर अन्य लोगो तक पंहुचने मे प्रशिक्षण दिया वही टिपिट ने प्रार्थना,बेदारी और शुद्वता के सिंद्वात सिखाऐ जो शामिल जवानो को ऊपर पंहुचना और फिर अन्य लोगो तक पंहुचने के लिए योग्य बनाता है/

जो शामिल थे उन्होनने ने कहा की दोनो ने जवानो मे संतुलन तरीके से प्रभावशाली सेवकाई कैसे स्थाथपित करना है सिखाया/दोनो शिक्षा ने एक दुसरे की प्रशंसा की/ सत्तर के स्माैपत मे St.कलेर ने विधार्थी को टिम बनाने के लिए समय बिताने मे उत्साकहित किया/सेवकाई की जिम्मे्वारी को बाड़ते हुए हर सत्तर मे उन्केा पास टिपिट और St.कलेर का उद्वारण जांचने के लिए था/

Special Prayerउस देश की राजधानी के Orthodox र्चच मे एक शाम जंहा संभा हुई टिपिट ने बेदारी के विष्यए मे सिखाया/संभा के अंन्तक मे ज़बरदस्तट प्रतिउत्तर मिला/

बहुतो ने अपना जीवन मसीह को दिया और बताया कैसे उन्हो ने परमेश्वतर को उन्हेर मसीह समान बनाने की योजना बताई/

टिपिट ने कहा,मै विश्वा स करता हूं की परमेश्व र नई पिड़ी मे अपने ह्रद्ये समान जवानो को खड़ा कर रहा है/ उन जवानो को उसके पिछे चलने मे हमने मदद करनी है और अपने प्रिय तक सुसमाचार पहुचाने के लिए साम्रथी बनाना है/ सेवकाई का गुणावाद करना है/यह हमारी संभा मे हुआ इस कारण मै खुश हूँ/