Hide Button

सैमी टिपिट सेवकाई निम्‍नलिखित भाषाओं मे आपको यह विषय प्रदान करती है:

English  |  中文  |  فارسی(Farsi)  |  हिन्दी(Hindi)

Português  |  ਪੰਜਾਬੀ(Punjabi)  |  Român

Русский  |  Español  |  தமிழ்(Tamil)  |  اردو(Urdu)

devotions
गुप्त बातें

अमेरिका में प्रार्थना की लहर बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं। पर क्या तुम सोचते हो कि क्यों आत्मिक और नैतिक वातावरण और भी दूषित होता जा रहा हैं एक कारण हो सकता हैं कि इसका सबंध हमारे दिल की गुप्त बातों से हो। प्रार्थना परमेश्वर के साथ निकटता हैं। प्रार्थना में ज्यादा प्रभावशाली होने के लिये, तुम्हारे और परमेश्वर के निकट सगंति के बीच में कुछ भी खड़ा नहीं होना चाहिए।

सोवियत युनियन के गिरने से कुछ समय पहिले, मैंने युकै्रन के पूरे पांच शहरों में सुसमाचार का प्रचार किया। वहां हम ने हर शहर में बारिश का सामना किया। सारा दिन बारिश होती थी और हम प्रार्थना करते थे। कि परमेश्वर बारिश को रोके। कि लोग स्टैडियम में आकर सुसमाचार का प्रचार सुनें। परमेश्वर बारिश को रोकने के लिए किसी मजबूरी में नहीं था, परन्तु अपनी दया के द्वारा हमारी विनती को स्वीकार किया। हमारी सुसमाचार की सभाए शुरू होने से एक घंटा पहिले, परमेश्वर ने हर शहर में बारिश को रोक दिया। यह बहुत ही खुशी की बात थी। कि हजारों लोंगो ने पहिली बार सुसमाचार सुना।

मैंने इसी समय युके्र्रन और रोमानिया की यात्रा करते हुए सुंदर गलीचे जो बहुत ही सस्ते में लिये। मैंने एक गलीचा युके्रन में और एक रोमानिया में खरीदा। पर जब मैंने रोमानिया से बाहर जाने की कोशिश की, तो बार्डर के सिपाही ने मुझे कहा, कि मैं युके्रन का गलीचा तो बाहर ले जा सकता हंू पर रोमानिया का गलीचा नहीं ले जा सकता। एक मित्र ने कहा, “सैमी हम गलीचे के ऊपर जो टैग लगा हैं उसे हटा सकते हैं और सिपाही को अन्तर का पता नहीं चलेगा। फिर तू युके्रन का गलीचा यहां छोड़कर जा सकता हैं और रोमानिया का गलीचा अपने साथ ले जा सकता हैं।” मुझे यह मानना पड़ेगा कि मैंने यह करने के बारे में सोचा था। उसी समय एक और मित्र बोला, “सैमी मैं सोचता हूँ कि वह ठीक कह रहा हैं। तुम रोमानिया का गलीचा बाहर ले जा सकते हो। पर इसके बाद तू ने परमेश्वर को बंद करने के बारे में कहा तो वह नहीं करेगा।“ उसकी बातों ने मेरे दिल को पकड़ लिया। मैं परमेश्वर के साथ निकटता और उसकी शक्ति को एक पुराने गलीचे के साथ बदलने जा रहा था। यह कितनी बड़ी दुर्घटना होती। शायद इसी लिये परमेश्वर तुम्हारी कुछ प्रार्थनाओं का ऊतर नहीं देता। शायद एक पुराना गलीचा तुम्हारे दिल में छिपा हुआ हैं इस का परमेश्वर के आगे इकरार करो। इससे छुटकारा पाओ। याकूब की पत्री में लिखा हुआ हैं, “धर्मी जन की प्रार्थना बहुत ही ताकतवर और प्रभावशाली होती हैं।”

(याकूब 5-16 )यदि तुम प्रार्थना में सामर्थ को ढूंढ रहे हो, तो तुम्हें अपने दिल के गुप्त स्थानों को साफ करना होगा।